• ICPR

भा.दा.आ.सं.परि.व्याख्यान कार्यक्रम:

आवधिक व्याख्यान कार्यक्रम

परिषद् के दर्शन के प्रचार के लिए विभिन्न कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में आवधिक व्याख्यान आयोजित करता है। स्थानीय क्षेत्र के वरिष्ठ विद्वान शिक्षकों को युवा विद्वानों के लिए व्याख्यान देने का अनुरोध किया जाता है ताकि वे दर्शन के क्षेत्र में विकास से परिचित हो सकें।  

राष्ट्रीय व्याख्यान

समकालीन प्रमुख दार्शनिकों के विचारों के साथ भारतीय विद्वानों को परिचित कराने के साथ ही उनके साथ घनिष्ठ संपर्क के लिए अवसर प्रदान करने की दृष्टि सेभा.दा.अ.परिषद, व्याख्यान देने के लिए हर साल भारतीय और विदेशी विद्वानों को आमंत्रित करती है। इस योजना के तहतपरिषद्, विजिटिंग प्रोफेसरों द्वारा भारत में कम से कम तीन विभिन्न विश्वविद्यालयों में तीन या अधिक व्याख्यानों की श्रृंखला के आयोजन के लिए विश्वविद्यालयों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है। साथ ही आमंत्रित विद्वानों की यात्रा और आतिथ्य लागत आदि हेतु विश्वविद्यालयों कोRs.35,000 का अनुदान दिया जाता है । परिषद द्वारा व्याख्यान में भाग लेने और चर्चाओं में भाग लेने के लिए अपने क्षेत्र से रुचि विद्वानों को आमंत्रित करने के लिए यात्रा व्यय की व्यवस्था भी की जाती है। आमंत्रित प्रोफेसरों को स्थानीय आतिथ्य प्रदान करने के अलावापरिषद् उन्हें 20000 रुपये की निशानी मानदेय का भुगतान करती है.